जन्मदिन विशेष राहत इंदौरी:जानिये राहत इंदौरी के बारे में

राहत इंदौरी

और नई शायरी पढ़ें अपनी हिन्दी एवं उर्दू भाषा में हमारे इस ब्लॉगर पर :-The spirit of ghazals-लफ़्ज़ों का खेल


उर्दू के मकबूल शायर जनाब राहत इंदौरी का जन्मदिन भी 1 जनवरी है। सन 1950 की पहली जनवरी को पैदा हुए राहत इंदौरी अपने शेरों में आसान लफ्जों का इस्तेमाल कर गूढ़-से-गूढ़ बातें कह देने के लिए जाने जाते हैं। ‘सभी का खून है शामिल यहां की मिट्टी में, किसी के बाप का हिन्दोस्तान थोड़ी है’ जैसे कई लोकप्रिय और जोरदार शेर रचने वाले राहत इंदौरी ने बॉलीवुड फिल्मों में गीत भी लिखे हैं।

मौजूदा वक्त में अगर किसी ऐसे शायर की बात की जाए जो एक आम हिंदुस्तानी को गहरी से गहरी बात भी बेहद आसान लफ्जों में समझाने का दम रखते हैं तो राहत इंदौरी का नाम जरूर याद आएगा. आज राहत इंदौरी का 68वां जन्मदिन है. वह प्रसिद्ध उर्दू शायर और हिन्दी फिल्मों के गीतकार हैं.


बेहद दिलचस्प है शायर बनने की कहानी  जानिये राहत इंदौरी के
बारे में और पढ़ें »

 

Advertisements