उदास कर देती है, हर रोज ये शाम मुझे ..

 यूँ  लगता है, 

जैसे कोई भूल रहा हो, मुझे आहिस्ता आहिस्ता..!!

…… कुमार शशि…..  ♡..♡ 

#_तन्हा_दिल…✍Meri Qalam Mere Jazbaat♡

Advertisements